Author Archives: jyotee Goenka

About jyotee Goenka

जय माता दी, मै ज्योति गोयनका आप सब का अपने इस ब्लॉग में स्वागत करती हूँ यह ब्लॉग मैंने माता रानी की प्रेरणा से हमारे समाज में धरम प्रचार का एक छोटा सा प्रयास करने के लिए बनाया है, माता रानी ने मेरे जीवन में बहुत से चमत्कार किये है, मेरा यह मानना है की सच्ची भक्ति और श्रदा से भाग्य में लिखा हुआ भी बदल सकता है, धरम के मार्ग पर चलकर किसी का बुरा नहीं हो सकता, इसी विश्वास को लेकर मैंने यह एक धार्मिक ब्लॉग बनाया है, आशा करती हूँ , मेरा यह प्रयास आप सबको पसंद आएगा, इस विषय में यदि आपके कुछ सुझाव हो मुझे अवशय लिखे , जय माता दी, ज्योति गोयनका

Mata Lakshmi ki Aarti /लक्ष्मी माता की आरती, ओम जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता/Jayalakshmi Mata Ki

माँ वैष्णो देवी की तीन रूपों माता काली, माता लक्ष्मी और माता सरस्वती में से माता लक्ष्मी हिन्दू धर्म की एक प्रमुख देवी मानी जाती है | माता लक्ष्मी धन, सम्पदा, शान्ति और समृद्धि की देवी मानी जाती हैं। जिस मनुष्य पर माता लक्ष्मी की कृपा हो जाती है, उसके घर में सुख , समृद्धि,… Read More »

2019 अक्टूबर कार्तिक मास में तुलसी पूजन का महत्व और पूजा विधि इन हिंदी / Tulsi Puja in Kartik Month

Tulsi Puja in Kartik Month हिन्दू पंचांग के अनुसार वर्ष में 12 मास आते है और प्रत्येक मास की अपनी एक मुख्य विशिष्टता होती है | साल के 12 महीनों में से कार्तिक का महीना सबसे उत्तम और और पवित्र माना गया है। पुराणों के अनुसार इस मास में भगवान विष्णु नारायण रूप में जल… Read More »

2019 करवाचौथ का महत्व, शुभ मुहर्त, पूजा विधि और व्रत कथा | karva chauth 2019 | Karva Chauth Ka Vrat

karva chauth ka vrat मुझे गर्व है अपने देश भारत पर, अपनी भारतीय संस्कृति पर ,अपने भारतीय इतिहास पर | मुझे गर्व है की मैं भारत देश की नारी हूँ , उस देश की नारी, जिस देश में सीता और सावित्री जैसी महान नारियों ने जन्म लिया | जिन्होंने अपना पति धर्म निभाते हुए, अपने… Read More »

Ravan ki Janam katha / रावण की जन्म कथा / किस प्रकार हुआ था रावण का जन्म

रामायण में महाबलि रावण एक ऐसा पात्र था जो भगवान् श्री राम के उज्जवल चरित्र को उभारने का कार्य करता था | अगर रावण नहीं होता तो इस पूरे ग्रंथ का निर्माण ही नहीं होता इसलिए इसमें रावण का विशेष महत्‍व है। रावण एक उच्च कोटि के ब्राह्मण, अति बलशाली और विद्धान पंडित थे |… Read More »

Kali Mata ki Aarti /Ambe tu hai Jagdembe kali/अम्बे तू है जगदम्बे काली

Kali Mata ki Aarti अम्बे तू है जगदम्बे काली , जय दुर्गे खप्पर वाली,तेरे ही गुण गावें भारती, ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती ॥ तेरे भक्त जनो पर माता भीर पड़ी है भारी।दानव दल पर टूट पड़ो मां करके सिंह सवारी॥सौ-सौ सिहों से बलशाली, है अष्ट भुजाओं वाली,दुष्टों को तू ही ललकारती।ओ मैया… Read More »

सभी मनोकामनाओ को पूर्ण करते है दुर्गा सप्तशती के कुछ सिद्द सम्पुट मन्त्र /Durga Saptshati

Durga Saptshati ke Mantra /दुर्गा सप्तशती के मन्त्र श्रीमार्कण्डेयपुराणान्तर्गत देवीमाहात्म्य में “श्लोक”, “अर्ध श्लोक” और “उवाच” आदि मिलाकर कुल 700 मन्त्र है | यह माहात्म्य दुर्गा सप्तशती (Durga Saptshati )के नाम से प्रसिद्द है | यह ग्रन्थ सप्तशती अर्थ, काम, मोक्ष — चारों पुरषार्थो को प्रदान करने वाली है | जो पुरष जिस भाव और… Read More »

दुर्गा माता की आरती : जय अम्बे गौरी / Durga Aarti

दुर्गा माता की आरती /Durga Aarti /जय अम्बे गौरी माँ दुर्गा की मुख्य आरती जय अम्बे गोरी मानी जाती है | इस आरती में त्रिदेव के द्वारा माँ दुर्गा की महिमा का गुणगान करते बताया गया है | इसी आरती में माँ के सुहागन रूप और माँ काली के कूर रूप से भी अवगत कराया गया है… Read More »

शारदीय नवरात्री 2019 की डेट्स तथा नवरात्री की पूजा विधि/ Navratri 2019

सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सवार्थ साधिके शरण्येत्र्यंबके गौरी नारायणी नमोस्तुते इस सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड की जननी, अपने भक्तो की रक्षा करने वाली, देवी भगवती को हमारा कोटि कोटि नमस्कार !! शारदीय नवरात्री 2019 / Shardiya Navratri 2019 इन्हीं माँ दुर्गा की आराधना करने और उनकी कृपा प्राप्त करने के लिए हिन्दुओं में नवरात्री का पर्व अत्यंत ही… Read More »

Motivational Stories/Short Motivational Stories

ईश्वर पर विश्वास रखे (Motivational Stories & Inspirational Short Stories) मनुष्य जीवन में कई प्रकार के संघर्ष और कठिनाइयाँ आती है , और यदि दुःख का समय थोड़ा लम्बा हो जाये तो हम अपना धैर्य खोने लगते है , हमे ऐसा लगता है की अब कभी कुछ ठीक नहीं होगा l और ऐसे समय में… Read More »

Pranayam ka Mahtav/प्राणायाम का महत्व इन हिंदी

प्राणायाम क्या है ? (What is Pranayam) प्राणायाम योग का एक महत्वपूर्ण अंग है | यह योग के आठ अंगो में से एक अंग है | योग शास्त्रों में प्राणायाम के बारे में कहा गया है की प्राणायाम मन को शुद्ध करके उसे चिंतन के योग्य बनाने की एक क्रिया है | योग आसन के… Read More »