कैंसर होने के क्या कारण है |Cancer hone ke karan

Cancer hone ke karan – कैंसर एक ऐसी घातक बीमारी है जो प्रति वर्ष हजारो लोगो की जान ले लेती है और जो पुरे विश्व में बहुत तेजी से फैल रही है, आज कैंसर ने एक महामारी का रूप धारण कर लिया है, आंकड़ों से पता चलता है की वर्ष 2015 में लगभग 90 बिलियन लोग, कैंसर जैसी घातक बीमारी से ग्रस्त पाए गए , इसलिए कैंसर के प्रति जागरूकता होना अति आवश्यक है, यह जानना अति आवश्यक है की वो कौन से कारण है जिनकी वजह से कैंसर ने पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले लिया है I

आज जब मैंने अपने आस पास मेरे कुछ अपनों को इस बीमारी से ग्रस्त पाया तो मैंने इस विषय पर लिखने की सोची, आइए जानते है वो कौन से कारण है जिनकी वजह से कैंसर इतनी तेजी से फैल रहा है I

Cancer hone ke karan

आधुनिक लाइफस्टाइल : गलत और अनियमित लाइफस्टाइल का परिणाम है कैंसर जैसी घातक बीमारी , अनियमित लाइफस्टाइल का परिणाम शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता पर पड़ता है, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने लगती है, जिसके परिणाम स्वरुप कई प्रकार के रोग शरीर पर हमला करते है , इसलिए ” Early to bed and Early to rise ” के फार्मूला को अपनाये और भरपूर मात्रा में सब्जियों और फलो का सेवन करे, यदि आप भरपूर मात्रा में सब्जियों और फलो का सेवन करते है तो कैंसर का खतरा ना के बराबर हो जाता है I

शराब और Red Meat का सेवन करना : यदि आप शराब और Red Meat का सेवन करते है, सुबह देर से उठते है, एक्सरसाइज ना के बराबर करते है, तो धीरे धीरे कैंसर की कोशिकाएं शरीर में जनम लेने लगती है , इस लिए शराब और Red Meat को अलविदा कहे और प्रतिदिन एक्सरसाइज करे, घर पर बना हुआ शुद्ध सात्विक भोजन करे I

फ़ास्ट फ़ूड और जंक फ़ूड : फ़ास्ट फ़ूड और जंक फ़ूड का सेवन करने से शरीर को आवश्यक पोषण तत्व नहीं मिलते और परिणाम होता है शरीर में कैंसर जैसी बीमारी का जनम लेना I (Cancer hone ke karan)

Microwave Popcorn :आजकल सिनेमाघर में सिनेमा देखते हुए हम गरम गरम पॉपकॉर्न बहुत स्वाद लेकर कहते है, परन्तु क्या आप जानते है की ऐसा करने से कैंसर जैसी बीमारी को हम खुद ही न्योता देते है, जी हाँ , वास्तव में जब माइक्रोवेव में पॉपकॉर्न के पैकेट को गरम किया जाता है, तो यह तरह तरह के chemicals छोड़ता है और पॉपकॉर्न में मौजूद मखन के साथ मिलकर फेपड़ो को नुक्सान पहुंचाता है I इसलिए आप इसका सेवन बिलकुल बंद कर दे I

सात्विक भोजन क्या है

डिब्बा बंद कोल्ड ड्रिंक्स : आजकल गर्मियों में अक्सर लोग प्यास बुझाने के लिए डिब्बा बंद कोल्ड ड्रिंक्स का सेवन करते है, यहाँ तक हम डिब्बा बंद कोल्ड ड्रिंक्स gift purpose के लिए भी करते है, परन्तु क्या आप जानते है की ऐसा करने से आप कैंसर जैसे बीमारी को न्योता दे रहे है, इन कोल्ड ड्रिंक्स में कार्बोहायड्रेट होता है, और साथ ही साथ कॉर्न सिरप, विषाक्त धातु और पारा अत्यधिक मात्रा में पाया गया है। नियमित रूप से कोल्ड ड्रिंक पीने पर शरीर को बाद में काफी नुकसान झेलना पड़ सकता है। हाई फ्रक्टोज सीरप (High Fructose Syrup) काफी भारी मात्रा में कोल्ड्रिंक में मिक्स की जाती है। इसके नियमित सेवन से मोटापा, मधुमेह, कैंसर और दिल का रोग हो सकता है। इसलिए आप कोल्ड ड्रिंक्स का सेवन बंद कर दे I (Cancer hone ke karan)

रिफाइंड आयल : रिफाइंड आयल को लम्बे समय तक चलाने के लिए इसमें हाइड्रोजन मिक्स की जाती है, और इस तेल को रिफाइन करने के लिए कई तरह के रसायनों का प्रयोग किया जाता है। जहां किसी भी तेल को रिफाइन करने में 6 से 7 प्रकार के रसायन प्रयोग किए जाते हैं, वहीं डबल रिफाइंड तेलों में इनकी संख्या 12-13 तक हो जाती है। इन रसायनों में एक भी रसायन organic नहीं होता, बल्कि अन्य रसायनों के साथ मिलकर यह जहराले तत्वों का निर्माण करने में सक्षम होता है। और परिणाम होता है कैंसर जैसी बीमारी का खतरा I इस लिए आप भोजन बनाने के लिए शुद्ध घी और सरसो के तेल का उपयोग करे I

Microwave heating : आजकल सभी घरो में भोजन गर्म करने के लिए माइक्रोवेव का उपयोग किया जाता है, परन्तु क्या आप जानते है की यह आपके स्वास्थ्य के लिए कितना खतरनाक है, भोजन को माइक्रोवेव में लगे प्लास्टिक के कंटेनर में रखकर गर्म करने पर भोजन में कॉर्सिनोजेन पैदा हो सकता है। माइक्रोवेव oven व्यक्ति के स्वास्थ्य को प्रभावित करने के साथ ही पर्यावरण पर भी इसका असर पड़ता है। माइक्रोवेव में बने भोजन में विषाक्त रसायन जैसे बीपीए, पॉलीएथीलिन टेरप्थालेट, बेंजीन, टालुइन और जाइलिन पाया जाता है जो सेहत के लिए खतरनाक होता है। एक रिसर्च में पाया गया है कि माइक्रोवेव ओवन के अंदर लगे प्लास्टिक के कंटेनर में भोजन रखने पर भोजन में कार्सिनोजेन के साथ ही कई हानिकारक विषाक्त पैदा हो जाते हैं जो व्यक्ति के शरीर के लिए सबसे ज्यादा हानिकारक होते हैं। इसलिए आप microwave का उपयोग करना बंद कर दे I

10 Glowing skin tips in hindi

Cancer hone ke karan

तो ये थे कैंसर जैसी बीमारी के कुछ कारण , अंत में निष्कर्ष यही निकलता है की हमारी भारतीय शैली, हमारा भारतीय शुद्ध भोजन, हमारे ऋषि मुनियो द्वारा बताया हुआ योग, ही सबसे अधिक उत्तम है, इसलिए आप हमारी भारतीय शैली को ही अपनाये और इस बीमारी को अपने समाज में पनपने ना दे II

भक्ति कहानी

तो ये थे कैंसर जैसी बीमारी के कुछ कारण , अंत में निष्कर्ष यही निकलता है की हमारी भारतीय शैली, हमारा भारतीय शुद्ध भोजन, हमारे ऋषि मुनियो द्वारा बताया हुआ योग, ही सबसे अधिक उत्तम है, इसलिए आप हमारी भारतीय शैली को ही अपनाये और इस बीमारी को अपने समाज में पनपने ना दे II

ज्योति गोयनका

Leave a Comment