Mata Lakshmi ki Aarti /लक्ष्मी माता की आरती, ओम जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता/Jayalakshmi Mata Ki

By | October 20, 2019

माँ वैष्णो देवी की तीन रूपों माता काली, माता लक्ष्मी और माता सरस्वती में से माता लक्ष्मी हिन्दू धर्म की एक प्रमुख देवी मानी जाती है | माता लक्ष्मी धन, सम्पदा, शान्ति और समृद्धि की देवी मानी जाती हैं। जिस मनुष्य पर माता लक्ष्मी की कृपा हो जाती है, उसके घर में सुख , समृद्धि, ऐश्वर्य आदि स्वयं ही आ जाते है, जिसके घर में माँ लक्ष्मी का निवास होता है, उसी को इस समाज में मान सम्मान, रिश्ते नाते, सगे संबंधी आदि का सुख प्राप्त होता है ।

Jayalakshmi Mata Ki

धन की देवी माता लक्ष्मी भगवान् विष्णु की पत्नी है । एक कथा के अनुसार माता लक्ष्मी की उत्पत्ति समुद्र मंथन के दौरान निकले रत्नों के साथ हुई थी, लेकिन दूसरी कथा के अनुसार वे भृगु ऋषि की बेटी हैं | ऐसा माना जाता है की कार्तिक मास की अमावस्या की रात्रि अथार्त दिवाली की रात्रि को माता लक्ष्मी इस धरती पर भ्रमण के लिए निकलती है | इसी कारण दिवाली की रात्रि को माता लक्ष्मी की कृपा प्राप्त करने के लिए उनकी विधिवत पूजा की जाती है और पूजा के अंत में उनकी आरती की जाती है | माता लक्ष्मी की आरती इस प्रकार से है :

Mata Lakshmi ki Aarti

ओम जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता। तुमको निशिदिन सेवत, हरि विष्णु विधाता॥ ओम जय लक्ष्मी माता॥

उमा, रमा, ब्रह्माणी, तुम ही जग-माता। सूर्य-चंद्रमा ध्यावत, नारद ऋषि गाता॥ ओम जय लक्ष्मी माता॥

Jayalakshmi Mata Ki

दुर्गा रुप निरंजनी, सुख सम्पत्ति दाता। जो कोई तुमको ध्यावत, ऋद्धि-सिद्धि धन पाता॥ ओम जय लक्ष्मी माता॥

तुम पाताल-निवासिनि, तुम ही शुभदाता। कर्म-प्रभाव-प्रकाशिनी, भवनिधि की त्राता॥ ओम जय लक्ष्मी माता॥

जिस घर में तुम रहतीं, सब सद्गुण आता। सब सम्भव हो जाता, मन नहीं घबराता॥ ओम जय लक्ष्मी माता॥

तुम बिन यज्ञ न होते, वस्त्र न कोई पाता। खान-पान का वैभव, सब तुमसे आता॥ ओम जय लक्ष्मी माता॥

शुभ-गुण मंदिर सुंदर, क्षीरोदधि-जाता। रत्न चतुर्दश तुम बिन, कोई नहीं पाता॥ ओम जय लक्ष्मी माता॥ (Mata Lakshmi ki Aarti )

जय लक्ष्मी माता जय लक्ष्मी माता जय लक्ष्मी माता जय लक्ष्मी माता

Category: धर्म संसार Tags: , , , , , , , , ,

About jyotee Goenka

जय माता दी, मै ज्योति गोयनका आप सब का अपने इस ब्लॉग में स्वागत करती हूँ यह ब्लॉग मैंने माता रानी की प्रेरणा से हमारे समाज में धरम प्रचार का एक छोटा सा प्रयास करने के लिए बनाया है, माता रानी ने मेरे जीवन में बहुत से चमत्कार किये है, मेरा यह मानना है की सच्ची भक्ति और श्रदा से भाग्य में लिखा हुआ भी बदल सकता है, धरम के मार्ग पर चलकर किसी का बुरा नहीं हो सकता, इसी विश्वास को लेकर मैंने यह एक धार्मिक ब्लॉग बनाया है, आशा करती हूँ , मेरा यह प्रयास आप सबको पसंद आएगा, इस विषय में यदि आपके कुछ सुझाव हो मुझे अवशय लिखे , जय माता दी, ज्योति गोयनका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *