Nag Panchami 2020 Date: जानें कब है नाग पंचमी 2020, शुभ मुहूर्त और व्रत कथा

Nag Panchami 2020 Date

Nag Panchami 2020 Date

नाग पंचमी का त्योहार नागों को समर्पित है। यह हर वर्ष श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाया जाता है। इस वर्ष नाग पंचमी 5 अगस्त दिन सोमवार को पड़ रही है।

इस दिन व्रत पूर्वक नागों का पूजन-अर्चन होता है। इस बार नाग पंचमी सावन के सोमवार को पड़ रही है, इसलिए इसका महत्व और भी बढ़ जाता है। नाग पंचमी का पर्व नागों के साथ जीवों के प्रति सम्मान, उनके संवर्धन एवं संरक्षण की प्रेरणा देता है। ऐसी मान्यता है कि नाग देवता की पूजा करने से और रूद्राभिषेक करने से भगवान शंकर प्रसन्न होते हैं. प्राचीन धार्मिक ग्रंथों के मुताबिक, अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में कालसर्प दोष हो तो उसे नागपंचमी के दिन भगवान शिव और नागदेवता की पूजा करनी चाहिए ।

हिन्दू पौराणिक कथाओं में नागों का महत्वपूर्ण स्थान रहा है। उन्हें पाताल लोक और नाग लोक का निवासी माना गया है, नाग पंचमी के दिन नागों की पूजा इसलिए की जाती है ताकि वह नकारात्मक ऊर्जा से हमारे परिवार की रक्षा करें। इस त्योहार के साथ ऐसी ही बहुत सारी कहानियां और किंवदंतियां जुड़ी हुई हैं।जिनमे से एक कथा इस प्रकार से है  । नागपंचमी के दिन इस  कथा का स्वयं पाठ या श्रवण करना शुभ रहता है ।

नागपंचमी की कथा (Naagpanchmi ki story)

नाग पंचमी के विषय में कई कथाएं प्रचलन में है, उनमें से एक के अनुसार किसी राज्य में एक किसान अपने दो पुत्र और एक पुत्री के साथ रहता था. एक दिन खेतों में हल चलाते समय किसान के हल के नीचे आने से नाग के तीन बच्चे मर गयें. नाग के मर जाने पर नागिन ने शुरु में विलाप कर दु:ख प्रकट किया फिर उसने अपनी संतान के हत्यारे से बदला लेने का विचार बनाया ।

रात्रि के अंधकार में नागिन ने किसान व उसकी पत्नी सहित दोनों लडकों को डस लिया. अगले दिन प्रात: किसान की पुत्री को डसने के लिये नागिन फिर चली तो किसान की कन्या ने उसके सामने दूध का भरा कटोरा रख दिया. और नागिन से वह हाथ जोडकर क्षमा मांगले लगी. नागिन ने प्रसन्न होकर उसके माता-पिता व दोनों भाईयों को पुन: जीवित कर दिया ।

उस दिन श्रावण मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि थी. उस दिन से नागों के कोप से बचने के लिये इस दिन नागों की पूजा की जाती है और नाग -पंचमी का पर्व मनाया जाता है ।

नाग पंचमी 2020 पर्व तिथि व मुहूर्त (Naag Panchmi 2020)

नाग पंचमी की तिथि: 25 जुलाई , 2020 शनिवार


नाग पंचमी तिथि प्रारंभ: जुलाई 24, 2020 को 02:34 पी एम बजे


नाग पंचमी तिथि समाप्‍त: जुलाई 25, 2020 को 12:02 पी एम बजे


नाग पंचमी की पूजा का मुहूर्त: सुबह
05:54 ए एम से 08:34 ए एम

नाग पंचमी के दिन भूमि की खुदाई नहीं की जाती, नाग पूजा के लिए नागदेव की तस्वीर या फिर मिट्टी या धातू से बनी प्रतिमा की पूजा की जाती है, दूध, धान, खील और दूब चढ़ावे के रूप में अर्पित की जाती है. सपेरों से किसी नाग को खरीद कर उन्हें मुक्त भी कराया जाता है.जीवित सर्प को दूध पिलाकर नाग देवता को प्रसन्न किया जाता है ।

सपेरे द्वारा पकड़े गए नाग का पूजन करने से बचना चाहिए। नाग का पूजन सदैव नाग मंदिर में ही करना श्रेष्ठ रहता है। नागपंचमी के दिन सपेरे नाग को पकड़कर उनके दांतों को तोड़ देते हैं। इससे वह शिकार करने लायक नहीं रहता। उसे भूखा रखा जाता है। भूखा सांप दूध को पानी समझकर पीता है। सांप जाे पानी पीता है, उससे पहले से बने घाव में मवाद बन जाता है और बाद में भूख से मर जाता है। नाग शाकाहारी प्राणी नहीं है, वह दूध नहीं पीता।

अंत में मै नागदेवता को कोटि कोटि प्रणाम करती हूँ , जय नाग देवता

धन्यवाद
ज्योति गोयनका

Leave a Comment